उत्‍तर प्रदेश शासन

वित्‍त (सामान्‍य) अनुभाग-3

संख्‍या-सा-3-552/दस-2011-301/2000

लखनऊ : दिनांक : 11 जुलाई, 2011

कार्यालय - ज्ञाप

विषय :- अपुनरीक्षित वेतनमानों में पेंशन/पारिवारिक पेंशन अथवा अनन्‍तिम पंेशन प्राप्‍त कर रहे पेंशनरों को दिनांक 01.01.2011 से महंगाई राहत की स्‍वीकृति के संबंध में।

    अधोहस्‍ताक्षरी को यह कहने का निदेश हुआ है कि उपर्युक्‍त विषय पर वित्‍त विभाग के कार्यालय-ज्ञाप संख्‍या-सा-3-2239/दस-2010-301/2000 दिनांक 15 जनवरी, 2011 द्वारा जिन पेंशनरों/पारिवारिक पेंशनरों की पेंशन की धनराशि पुनरीक्षित नहीं हुई है या संबंधित कार्मिक ने पुनरीक्षित वेतनमान में वेतन निर्धारित नहीं कराया है और तदनुसार उन्‍हे- अपुनरीक्षित वेतन के आधार पर पेंशन स्‍वीकृत हुई है, को पेंशन पर महंगाई राहत दिनांक 01.07.2010 से 103 प्रतिशत की दर से स्‍वीकृत की गयी थी, के क्रम में उक्‍त श्रेणी के पेंशनर/पारिवारिक पेंशनरों को महंगाई राहत दिनांक 01.01.2011 से 115 प्रतिशत की दर से अनुमन्‍य होगी।

2- यह भी स्‍पष्‍ट किये जाने की अपेक्षा की गयी है कि ऐसे सेवानिवृत्‍त कर्मचारियों , जिन्‍हें अपुनरीक्षित अनन्‍तिम पेंशन मिल रही है, को उपरोक्‍तानुसार उल्‍लिखित दरों पर महंगाई राहत अनुमन्‍य होगी।

3- क्‍योंकि अनन्‍तिम पेंशन एवं उस पर महंगाई राहत का भुगतान अधिष्‍ठान बिलों पर आहरित करके किया जाता है, इसलिए यह प्रशासकीय विभागों का दायित्‍व होगा कि वे उपरोक्‍त प्रस्‍तर-2 में उल्‍लिखित व्‍यवस्‍था के अनुसार अनन्‍तिम पेंशन की धनराशि पर महंगाई राहत की गणना करके भुगतान करें।

4- अत: उपरोक्‍त श्रेणी के पेंशनरों/पारिवारिक पेंशनरों तथा अनन्‍तिम पेंशन प्राप्‍त सेवानिवृत्‍त कर्मचारियों को तद्नुसार महंगाई राहत का भुगतान सुनिश्‍चित करने का कष्‍ठ करें।

(वृन्‍दा सरूप)

प्रमुख सचिव, वित्‍त।